January 29, 2020
  • January 29, 2020
Breaking News
  • Home
  • Uncategorized
  • लोग अगर इससे डरते तो मुजरिम जुर्म न करते ।संपादकीय विशेष पंकज कुमार ठाकुर की कलम से।

लोग अगर इससे डरते तो मुजरिम जुर्म न करते ।संपादकीय विशेष पंकज कुमार ठाकुर की कलम से।

By on June 21, 2019 0 267 Views

किसी शायर ने क्या खूब लिखा है । लंबे इसके हाथ सही ; ताकत इसके साथ सही ; पर यह देख नहीं सकता ; बिन देखे है लिखता । काला धंधा होता रहा ; यह कुर्सी पर सोता रहा । लोग अगर इस से डरते ; तो मुजरिम जुर्म ना करते । स्थानीय रजौन प्रखंड अंतर्गत धोनी बामदेव पंचायत के बामदेव गांव के महिला और दो बच्चे समेत पहुंचे अंचल अधिकारी के कार्यालय रूपम देवी पति संजय पोद्दार की शादी 10 वर्ष पूर्व हुई थी और इसे दो बच्चे हैं। पति पूर्णरूपेण बीमारी से ग्रसित है ।रूपम देवी ने बताया कि अक्सर उसे प्रताड़ित किया जाता था कई बार उसके ससुर ने उस पर हाथ भी उठाया । इस संदर्भ में जब वह थाने पहुंची तो वहां से टाल मटोल कर कभी अंचलाधिकारी के पास तो कभी प्रखंड विकास पदाधिकारी के पास भेज दिया गया । जबकि उसके दो बच्चे हैं ; 7 वर्षीय अंशु कुमारी और 4 वर्षीय सुमन कुमार को लेकर आज 3 दिनों से लगातार वह कभी प्रखंड की चक्कर काट रही है तो कभी थाने की । इस संदर्भ में जब सरपंच अवधेश कुमार से संपर्क साधा गया तो सरपंच ने बताया कि कई बार तो फैसला कर दिया गया है लेकिन रूपम देवी के ससुर आनंदी पोद्दार कुछ मानने को ही तैयार नहीं । सामने हैं उनकी फरमान कि किस तरह धज्जियां उड़ रही है। महिलाएं अपने दो बच्चों को लेकर इधर-उधर भटक रही है और आज भी इंसाफ के के लिए कमोबेश हर बाबू के कुर्सी तक पहुंच चुकी है ; लेकिन साहब को क्या ।अब इतने के बावजूद भी विकास के साथ न्याय यात्रा की ढोल पीटने वालों के लिए यह एक जीते जागते नकारेपन का नतीजा है।

Leave a comment